उत्तरप्रदेश के 61 फीसदी लोगों ने माना कि अखिलेश का काम बोलता है

उत्तरप्रदेश में विधानसभा चुनाव होने में महज कुछ महीने शेष हैं। नेता जनता से मेल-जोल बढ़ाने के साथ ही अपने दल की विशेषता बता रहे हैं। बेहतर नीतियां लाने का वादा कर रहे हैं। इस बीच मौजूदा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का पूरा फोकस अपनी विकासवादी योजनाओं पर है। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने विकास से संबंधी जितनी योजनाओं की नींव रखी थी उनमें से ज्यादातर या तो पूरी हो गई हैं या फिर चंद दिनों में पूरी होने वाली हैं।

इस बात की पुष्टि कई सर्वेक्षणों में हुई है। शुक्रवार को इंण्डिया टीवी और सीएसडीएस के सर्वे में राज्य के 61 फीसदी लोगों ने माना कि वो मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की परफार्मेंस से खुश हैं। इतना ही नहीं राज्य की 33 फीसदी जनता उन्हें दोबारा सीएम के रूप में देखना चाहती है। गौरतलब है कि अखिलेश यादव बतौर मुख्यमंत्री उत्तरप्रदेश की जनता की पहली पसंद हैं। यहां कुछ प्रमुख कार्यों का उल्लेख किया जा रहा है। जिनके जरिए अखिलेश सरकार की नीति एवं नियत को समझने में मदद मिलेगी।

राज्य के निवेश में बढ़ावा

उत्तरप्रदेश में अप्रैल, 2012 से जनवरी, 2016 तक 1,68,219 उद्योगों की स्थापना हुई है। जिससे राज्य में 25,081.10 करोड़ का निजी निवेश हुआ है। भारी मात्रा में निवेश के कारण 15,47,421 लोगों को रोजगार मिला है। आज प्रदेश में लगभग 13,586 करोड़ की परियोजनाएं सक्रिय रूप से कार्यरत हैं। जबकि 65,095 करोड़ की परियोजनाएं शीघ्र शुरू होने वाली हैं।

परिवहन के क्षेत्र में मजबूत कदम

अखिलेश यादव के नेतृत्व में राज्य की परिवहन व्यवस्था में जबर्दस्त सुधार हुआ है। उत्तरप्रदेश देश का एक मात्र ऐसा राज्य है जहां के 6 शहर मेट्रो रेल सुविधा से लैश होने जा रहे हैं। इसमें लखनऊ मेट्रो देश की सबसे तीव्र गति से तैयार होने वाली मेट्रो रेल सर्विस है। साल के अंत तक लखनऊ मेट्रो का ट्रायल शुरू हो जाएगा। जबकि वाराणसी, कानपुर, आगरा, इलाहाबाद, मेरठ की डीपीआर पास हो चुकी है। जल्दी ही यहां मेट्रो रेल का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। सड़क मार्ग की बात करें तो राज्य के 50 से ज्यादा जिले फोर लेन परियोजना से जोड़े जा चुके हैं। 302 किमी देश की सबसे लंबी आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे भी शीघ्र शुरू होने जा रही है। इसके बाद आगरा और लखनऊ की दूरी कुछ घंटों में तय हो सकेगी। साथ ही लखनऊ से बलिया समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर भी निर्माण कार्य शुरू होने जा रहा है। इसके लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

कानून-व्यवस्था पर विशेष नजर

राज्य की कानून-व्यवस्था को और बेहतर करने के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इंटीग्रेटेड डायल-100 परियोजना को आगामी अक्टूबर महीने में शुरू करने जा रहे हैं। इसके बाद राज्य वासियों को अमेरिका जैसी सुविधा मिलने लगेगी। यानि आपातकालीन स्थिति में 100 नंबर डायल करते ही पुलिस आपके पास पहुंचेगी और आपको मदद देगी। इस परियोजना में 4800 पीसीआर वाहन लगाए जाने की तैयारी है। इसके अलावा महिला सुरक्षा के लिए 1090 वूमेन पॉवर लाइन पहले से ही संचालित हो रही है। जिसके जरिए लाखों महिलाओं और लड़कियों को लाभान्वित किया जा रहा है।

स्वास्थ्य के क्षेत्र में गुणात्मक सुधार

डॉक्टर लोहिया के (रोटा कपड़ा सस्ती हो दवा पढ़ाई मुफ्ती हो) सिद्धान्तों पर चलते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए अब तक 700 से ज्यादा एमबीबीएस सीटों में इजाफा किया है। जबकि सभी राजकीय अस्पतालों में भर्ती, इलाज, दवाई और कई तरह की जांचें निःशुल्क कर दी हैं। जिससे गरीब एवं वंचित वर्ग को बेहतर चिकित्सा सुविधा मिल रही है। साथ ही विश्वस्तरीय चिकित्सा सुविधा के लिए लखनऊ में कैंसर संस्थान और मेदान्ता मेडिसिटी का भी निर्माण काराया जा रहा है। जबकि एक दर्जन से ज्यादा नए मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं।

युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव राज्य में खेलकूद को बढ़ावा देने के लिए लखनऊ में इंटरनेशनल स्टेडियम का निर्माण करा रहे हैं। जबकि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए लखनऊ में गोमती रिवर फ्रंट का पहला फेज अक्टूबर महीने में शुरू होने जा रहा है। किसानों को मजबूत बनाने के लिए किसान बाजार और कृषि मण्डियों का निर्माण कराया जा रहा है। यानि हर वर्ग के कल्याण के लिए बेहतर नीति संचालित की जा रही है। जिसका लाभ समाज के सभी तबके को मिल रहा है। तभी तो लोग कह रहे हैं अखिलेश का काम बोलता है।

4 thoughts on “उत्तरप्रदेश के 61 फीसदी लोगों ने माना कि अखिलेश का काम बोलता है

  • September 8, 2016 at 11:25 am
    Permalink

    Yes i want to Sri Akhilesh yadava once again in U.P. as the C.M.

    Reply
  • September 14, 2016 at 6:05 pm
    Permalink

    माननीय मुख्यमंत्री जी बहुत अच्छा काम किया है सभी लोगों तारीफ कर रहे हैं। स्वतंत्र रूप से काम करने दिया जाये । मेरा विश्वास है । सरकार वापसी करेगी। जनादेश अखिलेश को मिला था । अन्य किसी को नहीं । यदि सरकार वापसी कर सकती है। तो अखिलेश के नेतृत्व में । पार्टी में किसी अन्य व्यक्ति के ने नेतृत्व नहीं । ये आम लोगों के बिचार है। किसी नेता के नही ं।

    Reply
  • October 20, 2016 at 11:14 pm
    Permalink

    jarur, akhilesh phir se

    Reply
  • October 21, 2016 at 2:06 pm
    Permalink

    माननीय मुख्य मंत्री जी का काम सराहनीय हैकिन्तु कानून bywashtha पर गंभीर बिचार करना होगा,दोषी चाहे अपने लोग हो,चाहे दूसरे ,सजा मिलनी ही चाहिए,

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *