अखिलेश सरकार के प्रयास से यूपी में बढ़ी पर्यटन की संभावनाएं

फिक्की व उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से शनिवार को यूपी के तीसरे संस्करण का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन उद्योग से जुड़े विभिन्न क्षेत्रों के लोगों को एक मंच पर लाकर यूपी में पर्यटन उद्योग को बढ़ाना रहा। मुख्य वक्ता फिक्की के चेयरमैन एलके झुनझुनवाला ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पर्यटन कि अपार संभावनाएं हैं।
हर साल होता है बर्ड फेस्टिवल
बंथरा स्थित एक होटल में आयोजित इस मीट उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए फिक्की और यूपी वन विभाग एक साथ मिलकर ‘यूपी बर्ड फेस्टिवल’ का आयोजन करता है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश तेजी से एक प्राकृतिक पर्यटन के रूप में उभर रहा है, जहां पर हजारों प्रजातियों के पक्षी प्रदेश में रहने के लिए आते है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश अपने अतिथि सत्कार के लिए जाना जाता है। फिक्की और यूपी सरकार वन्य जीवन, एडवेंचर, ऐतिहासिक धरोहरों, अवकाश और बौद्ध पर्यटन को भी उत्तर प्रदेश में बढ़ावा दे रही है। यूपी में पर्यटन कि बहुत अधिक संभावनाएं हैं, जो देशी और विदेशी पर्यटकों को प्रदेश में लाने कि क्षमता रखती है, जिससे राज्य में रोजगार और राजस्व दोनों कि बढ़ोतरी होगी।
पर्यटन के लिए सरकार के प्रभावी कदम
उन्होंने बताया कि टूरिज्म इंवेस्टर मीट का लक्ष्य देश में पर्यटन क्षेत्र में आधारभूत सुविधाओं के विकास पर जोर देना है। कार्यक्रम का उद्घाटन पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने किया। उन्होंने कहा कि सरकार ने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं। इस अवसर पर सुरेंद्र जयसवाल, राम प्रताप सिंह, एसके सिंह ने भी अपने विचार रहे। कार्यक्रम का समापन फिक्की के निदेशक राहुल चक्रवर्ती ने सभी का धन्यवाद करते हुए किया। प्रदेश के कई उच्च अधिकारी और पर्यटन क्षेत्र से जुड़े बड़े नाम भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *